बोलो जयकारा बोल मेरे श्री गुरु महाराज जी की जय , बोलो श्री नंगली निवासी सत्गुरुदेव भगवान जी की जय

Sunday, May 17, 2015

शुद्धतम तत्त्व ज्ञान का विज्ञान

जिस्मे-इंसानी में १४ तबकात आलम (सृष्टि के १४ भुवन) के मुकामात हस्बे-जैल (निम्नानुसार) ज़ाहिर किये गये हैं और सात समंदर सात पसलियों के मुकामात में माने गये हैं |



Post a Comment